Durlabh Kashyap Biography in Hindi | दुर्लभ कश्यप का जीवन परिचय

0
222
Durlabh Kashyap Biography in Hindi
Durlabh Kashyap Biography in Hindi

आज की इस पोस्ट में हम दुर्लभ कश्यप के जीवन के बारे में दुर्लभ कश्यप के अपराध, परिवार, मित्र, जन्मतिथि, Durlabh Kashyap Biography in Hindi, दुर्लभ कश्यप कौन से गांव का था, दुर्लभ कश्यप कौन था उसकी मौत कैसे हुई। History of durlabh kashyap in Hindi । दुर्लभ कश्यप के जीवन के बारे में जानने के लिए इस पोस्ट को पूरा पढ़ें।

Quick Durlabh Kashyap Biography in Hindi

नाम (Name)दुर्लभ कश्यप
जन्मदिन (Birthday)08 नवंबर 2000
उम्र (Age)20 वर्ष
जन्म स्थान (Birth Place)नेदुमुडी, त्रावणकोर (अब अलाप्पुझा, केरल, भारत में)
कॉलेज का नाम (College Name)गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल, जम्मू
गृह नगर (Hometown)उज्जैन, भारत
लम्बाई (Height)5 फीट 10 इंच
वजन (Weight)58 किग्रा

दुर्लभ कश्यप का जीवन परिचय । Durlabh Kashyap Biography in Hindi

दुर्लभ कश्यप मध्य प्रदेश के उज्जैन जिले का एक छोटा सा लड़का दिखने में बेहद ही मासूम था अपने मां-बाप का एकलौता लड़का था। पूरे परिवार का लाडला था मां बाप अपनी जान से ज्यादा उसे प्यार करते थे । दुर्लभ कश्यप जब वह 16 साल का हुआ न जाने उसे बदमाश बनने का कैसा धुन सवार हो गया ।

वह निकल पड़ा ऐसे रास्ते पर जहा जाना तो बड़ा आसान था लेकिन वहां से वापसी करना बहुत ही मुश्किल था । उसने दहशत फैलाने के लिए सोशल मीडिया का सहारा लिया। जिसकी वजह से काफी सारे युवा उससे जुड़ने लगे । यह वह दौर था जब महज 16-17 साल की उम्र मे अपराध की चाह रखने वाले युवा इसके फैन बनते जा रहे थे।

Also Read: Harnaaz Kaur Sandhu Biography in Hindi.

बड़े बाल सिर पर लाल टीका आंखों में सुरमा काला गमछा दुर्लभ का यह पहचान था। इस लाइफस्टाइल के कारण दुर्लभ कश्यप और उसके दोस्त चर्चे में थे। कम उम्र के लड़के उस से आकर्षित हो रहे थे और ज्वाइन हो रहे थे। जिसके साथ यह ग्रुप गैंग में बदल गया। दुर्लभ कश्यप का गैंग फेसबुक से चल रहा था।

अक्टूबर 2018 को जब दुर्लभ कश्यप ने फेसबुक पर एक पोस्ट डाल कर दहशतगर्दी फैलानी शुरू कर दी थी। उसी समय इस गैंग के 23 सदस्यों को गिरफ्तार किया गया था। जो की नई उम्र के थे उनमें से कुछ नाबालिग भी थे।

दुर्लभ कश्यप बहुत ही कम उम्र में अपराध की दुनिया में आया था। वह फेसबुक के जरिए कई सारे अपराध को अंजाम देता था। और इसी प्रकार वह धीरे-धीरे बहुत बड़ा गैंगस्टर बन गया । दुर्लभ कश्यप अपनी उम्र से ज्यादा लोगों से दुश्मनी पाली थी।

जिसकी वजह से वह खुद अपने ही मौत का कारण बन गया। लॉकडाउन से पहले फरवरी के आसपास का वक्त था जब दुर्लभ कश्यप जमानत पर छूटा और इंदौर में रहने लगा। इसके बाद लॉकडाउन खत्म होते ही उज्जैन आ गया और यहां मां के पास रह रहा था।

इसी बीच 11:00 बजे दुर्लभ कश्यप गैंग के कुछ लोग रफीगंज के हार फूल वाली गली मे चाय दुकान पर पहुंचते हैं। और वहां चाय दुकानदार अमर उर्फ़ भूरा खुरमजारी को चाकू लहरा कर और धमका कर चले जाते हैं । जिसके बाद रात को 1:00 बजे दुर्लभ कश्यप 5 साथियों के साथ उस चाय की दुकान पर पहुंचता है।

जहां चाय की दुकान पर सामने खड़े शहनवाज से उसकी कहासुनी शुरू होती है । इसी बीच दुर्लभ शाहनवाज को कट्टे से गोली मार देता है। गोली जाकर उसके गर्दन पर लगती है और शाहनवाज वहीं गिर जाता है।

इसके बाद शाहनवाज के साथियों ने दुर्लभ को घेरकर उस पर हमला कर दिया । दुर्लभ को चाकू से 34 वॉर किया गया। गैंगवार में कमजोर पड देख दुर्लभ के साथी दुर्लभ को वहीं छोड़कर भाग चलें।

जिसका परिणाम हुआ अपराध की दुनिया में नाम कमाने की चाहत लिए दुर्लभ कश्यप का 7 सितंबर 2020 को गैंगवार में 20 साल की उम्र में हिस्ट्रीशीटर दुर्लभ कश्यप की चाकुओं से गोदकर हत्या कर दी गई।

कौन है दुर्लभ कश्यप ?

मध्य प्रदेश के उज्जैन जिले में दुर्लभ कश्यप का जन्म हुआ था । उनका जन्म 8 नवम्बर 2000 को हुआ था। दुर्लभ कश्यप एक हिस्ट्रीशीटर था। दुर्लभ कश्यप का फेसबुक अकाउंट था। जिसके जरिए वह अपराध फैलाता था। वह अपने फेसबुक अकाउंट के स्टेटस में एक लाइन लिखा था । कोई भी बात हो. कोई विवाद होने पर हमसे संपर्क करे।

दुर्लभ कश्यप कैसे बने गैंगस्टर ?

दुर्लभ कश्यप जब वह 16 साल का हुआ न जाने उसे बदमाश बनने का कैसा धुन सवार हो गया । वह निकल पड़ा ऐसे रास्ते पर जहा जाना तो बड़ा आसान था लेकिन वहां से वापसी करना बहुत ही मुश्किल था ।

उसने दहशत फैलाने के लिए सोशल मीडिया का सहारा लिया। जिसकी वजह से काफी सारे युवा उससे जुड़ने लगे । बड़े बाल सिर पर लाल टीका आंखों में सुरमा काला गमछा दुर्लभ का पहचान था ।

कम उम्र के लड़के उस से आकर्षित हो रहे थे और ज्वाइन हो रहे थे । जिसके साथ यह ग्रुप गैंग में बदल गया । दुर्लभ कश्यप का गैंग फेसबुक से चल रहा था । अक्टूबर 2018 को जब दुर्लभ कश्यप ने फेसबुक पर एक पोस्ट डाल कर दहशतगर्दी फैलानी शुरू कर दी थी । दुर्लभ कश्यप बहुत ही कम उम्र में अपराध की दुनिया में आया था । वह फेसबुक के जरिए कई सारे अपराध को अंजाम देता था । और इसी प्रकार वह धीरे-धीरे बहुत बड़ा गैंगस्टर बन गया

दुर्लभ कश्यप के मृत्यु का कारण

दुर्लभ कश्यप अपनी उम्र से ज्यादा लोगों से दुश्मनी पाली थी । जिसकी वजह से वह खुद अपने ही मौत का कारण बन गया ।

और यही हुआ भी शाहनवाज के साथ ने दुर्लभ को घेर कर उस पर हमला कर दिया । 7 सितंबर 2020 को गैंगवार में 20 साल की उम्र में हिस्ट्रीशीटर दुर्लभ कश्यप की चाकुओं से गोदकर हत्या कर दी गई

Durlabh Kashyap related Facts

  • मध्य प्रदेश के उज्जैन में एक सरकारी स्कूल के शिक्षक के इकलौते बेटे थे दुर्लभ कश्यप
  • दुर्लभ कश्यप का फेसबुक अकाउंट था जिसके जरिए वह अपराध फैलाता था | दुर्लभ एक हिस्ट्रीशीटर था
  • मध्य प्रदेश के उज्जैन जिले में दुर्लभ कश्यप का जन्म हुआ था उनका जन्म 8 नवम्बर को हुआ था
  • 17 साल की उम्र में दुर्लभ कश्यप ने फेसबुक पर एक पोस्ट कर दहशत मचा दिया था
  • दुर्लभ कश्यप 18 साल की उम्र में कई सारे अपराध की है जिसकी वजह से वह बहुत ही कम उम्र में गैंगस्टर लिस्ट में शामिल हो गए
  • दुर्लभ कश्यप अपने पहनावा से बहुत ही ज्यादा फेमस थे | बड़े बाल सिर पर लाल टीका आंखों में सुरमा काला गमछा दुर्लभ का यह पहचान था

FAQ

1.दुर्लभ कश्यप कौन था?

मध्य प्रदेश के उज्जैन में एक सरकारी स्कूल के शिक्षक के इकलौते बेटे थे दुर्लभ कश्यप।

2.दुर्लभ कश्यप का जन्म कहा हुआ था?

मध्य प्रदेश के उज्जैन जिले में दुर्लभ कश्यप का जन्म हुआ था

3.दुर्लभ कश्यप कैसे बने गैंगस्टर?

दुर्लभ कश्यप फेसबुक के जरिए गैंगस्टर बने

4.दुर्लभ कश्यप का जन्मतिथि क्या है?

उनका जन्म 8 नवम्बर 2000 को हुआ था

5.दुर्लभ कश्यप का मौत कब हुआ था?

7 सितंबर 2020 को गैंगवार में 20 साल की उम्र में दुर्लभ कश्यप की चाकुओं से गोदकर हत्या कर दी गई थी

ये भी पढ़ें

Previous articleचिट फंड, आवर्ती (रेकरिंग) जमा या म्यूचुअल फंड (Mutual Fund) – कहां निवेश करें New 2022
Next articleFilmyzilla Hollywood Hindi Dubbed Movie Download – All Movie 300mb Download HD Movies
Editorial Team "The Hindi Biography" में कुछ व्यक्तियों का समूह है जो विभिन्न प्रकार के विषयों पर लेख लिखते हैं और इनके द्वारा लिखे गए लेख पर लाखों उपयोगकर्ताओं द्वारा भरोसा किया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here